Hembram is battling to poverty
Hembram is battling to poverty

दो बेटियों के साथ बहुत ही तकलीफ में दिन गुजार रही है 56 वर्षीय बीमार महिला मनी हेंब्रम। रायगंज की शुहारुई की रहनेवाली मनी हेंब्रम पिछले 25 सालों से एक कठिन बीमारी से जूझ रही है। पैसों के अभाव में उसका इलाज भी नहीं हो पा रहा है। एक बेटा है जो गाड़ी चलाता है। लेकिन अपने परिवार से दूर रहता है। मनी हेंब्रम के पति की मौत हो गई है। उसके बाद से मनी हेंब्रम अपनी दो कन्याओं को साथ लेकर रहती है। एक लड़की उच्च माध्यमिक और दूसरी लड़की नवम श्रेणी में पढ़ती है। पैसों के अभाव में बच्चियों को पढ़ाना भी मनी हेंब्रम के लिए बहुत मुश्किल हो गया है। आय का कोई साधन ना होने की वजह से सरकारी राशन की एकमात्र सहारा है। पिछले 25 सालों से कठिन रोग से ग्रसित होने के कारण शारीरिक रूप से काफी कमजोर हो गई है। डॉक्टर ने कहा है कि रायगंज में इसका इलाज संभव नहीं है और मनी हेंब्रम के पास इतना पैसा नहीं है कि वह बाहर जाकर इलाज करवाएं। अब तक पंचायत जिला प्रशासन की ओर से कुछ भी सहयोग मनी हेमराम को नहीं मिला है। पैसे के अभाव में दोनों बेटियों की पढ़ाई बंद हो गई है। पंचायत प्रधान मुर्मू ने बताया कि मनी हेमरम विधवा भत्ता और चिकित्सा के लिए रायगंज ब्लॉक का कई बार चक्कर लगा चुकी है लेकिन उसे कुछ भी नहीं मिला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here